in ,

I already know that Helpful Not Helpful Funny

बीसीए के बाद खुल सकते है कई करियर अवसर, जान कर चौक जाएंगे आप

Career Option After BCA-smsvaranasi.com

क्या आप भी बीसीए करने का सोच रहे है या फिर आप बीसीए कर रहे है? अगर इन दोनों में से किसी एक का जवाब हां है तो ये लेख सिर्फ आपके लिए है। जी हां! (Career Option After BCA) बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन एक ऐसे छात्र के लिए उपयुक्त पाठ्यक्रम है जो कंप्यूटर की दुनिया में काम करना चाहता है।

यह तीन साल का डिग्री कोर्स कंप्यूटर टेक्नोलॉजी में करियर के लिए एक मजबूत आधार प्रदान करता है। यह एक तकनीकी अवधारणा पर आधारित पाठ्यक्रम है जो सी ++, जावा, एचटीएमएल, पीएचपी और कंप्यूटर के अन्य टॉपिक पर केंद्रित है। इस कोर्स के अंतर्गत एक छात्र को डेटाबेस प्रबंधन के साथ ही प्रशासन के बारे में पढ़ाया जाता है।

लेकिन अक्सर कोई भी क्षेत्र चुनने से पहले एक छात्र के दिमाग में कई तरह की दुविधा रहती है – जैसे कि उसकी इस क्षेत्र में रुचि है या नहीं, वो इस डिग्री के लिए योग्य है या नहीं और सबसे खास प्रश्न आता है कि इस कोर्स को करने के बाद भविष्य में क्या करियर की संभावनाएं हो सकती है। तो आइये आज जानते है बीसीए करने के बाद के करियर विकल्पों को:

  • पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री:

बीसीए करने के बाद अक्सर छात्र पोस्ट ग्रेजुएशन भी करते है ताकि वे अपने क्षेत्र में और माहिर हो सके। अपने बीसीए को पूरा करने के बाद, आप निम्न में से कोई भी पाठ्यक्रम चुन उच्च अध्ययन कर सकते हैं:

  1. एमसीए – मास्टर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन:

एमसीए दो साल का शैक्षिक पाठ्यक्रम है, जो 4 सेमेस्टर्स में बंटा होता है। यह कंप्यूटर विज्ञान में एक प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है, जो तकनीकी क्षेत्र में छात्रों को सैद्धांतिक और व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करने पर केंद्रित है। बेहतर और तेज ऍप्लिकेशन्स को विकसित करने के लिए नवीनतम प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज और टूल्स पर जोर दिया जाता है।

डिग्री कोर्स के आखिरी साल में सिस्टम मैनेजमेंट, मैनेजमेंट इन्फार्मेशन सिस्टम्स (एमआईएस), सिस्टम्स डेवलपमेंट, सिस्टम्स इंजीनियरिंग, नेटवर्किंग, इंटरनेटवर्किंग, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, ट्रबलशूटिंग या हार्डवेयर टेक्नोलॉजी में विशेषज्ञता प्राप्त कर सकते हैं।

ये डिग्री कर आप किसी भी सॉफ्टवेयर कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर या सिस्टम इंजीनियर के पद पर नौकरी पा सकते है।

  1. एमआईएम – मास्टर डिग्री इन इनफार्मेशन मैनेजमेंट:

एमआईएम एक डिग्री प्रोग्राम है जो  स्ट्रेटेजिक इनफार्मेशन  मैनेजमेंट , नॉलेज  मैनेजमेंट  बिज़नेस  एडमिनिस्ट्रेशन , इनफार्मेशन  सिस्टम्स , इनफार्मेशन  आर्किटेक्चर , कंप्यूटर  साइंसेज , पालिसी , एथिक्स , एंड  प्रोजेक्ट  मैनेजमेंट में अध्ययन प्रदान करता है। यह डिग्री इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी क्षेत्र की बढ़ती आवश्यकता को दर्शाती है और कंप्यूटर क्षेत्र में क्रन्तिकारी बदलाव लाने के लिए प्रतिबद्ध है।

  1. एमसीएम – मास्टर इन कंप्यूटर मैनेजमेंट:

एमसीएम कंप्यूटर और मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है। इस डिग्री में कंप्यूटर से सम्बंधित कोर्स को पढ़ाया जाता है, साथ ही प्रोजेक्ट मैनेजमेंट और मैनेजमेंट से जुड़े हुए अन्य विषय भी पढ़ाये जाते है। इस डिग्री कोर्स में आवश्यक वाणिज्यिक और गणितीय विषयों को भी शामिल किया गया है। इसमें कंप्यूटर के मैनेजमेंट पर खासा जोर दिया जाता है।

  1. पीजीपीसीएस – पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन कॉर्पोरेट स्टडीज:

पीजीपीसीएस एक 22 महीने का कार्यक्रम है, जिसमें दोहरी विशेषज्ञता जो चार शर्तों में शामिल होती है। पहला लेक्टर्स,दूसरा केस स्टडीज, तीसरा नाटकों द्वारा, चौथा प्रेजेंटेशन और सेल्फ स्टडीज के माध्यम से कवर किया जाता है। छात्रों को सॉफ्ट स्किल्स, कम्युनिकेशन स्किल्स, ग्रुप डिस्कशन आदि व्यक्तित्व विकास (पर्सनालिटी डेवलपमेंट) के लिए इस डिग्री कोर्स में सीखना जरूरी होते है।

  1. एमबीए – मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन:

एमबीए दो साल का प्रोफेशनल कोर्स है, जो आप बीसीए करने के बाद भी कर सकते है। इस कोर्स के करने के बाद एक बीसीए छात्र को कंप्यूटर के साथ मैनेजमेंट का भी ज्ञान हो जाता है, जो उसके लिए नए करियर के अवसरों को खोलता है। बीसीए-एमबीए करने के बाद वो कोई भी निजी क्षेत्र, एक गैर सरकारी संगठन में काम कर सकता है या यहां तक ​​कि एक उद्यमी बनने का विकल्प भी चुन सकता है।

  • शॉर्ट-टर्म कोर्स:

शॉर्ट-टर्म कोर्स के द्वारा छात्र सीमित समय के भीतर आवश्यक कौशल सीख सकते हैं। एक बीसीए ग्रेजुएट जावा, माईएसक्यूएल, एसएपी, ओरेकल, विजुअल बेसिक्स या वेब डेवलपमेंट में सर्टिफिकेट कोर्स कर सकता है। यदि आप एक ही समय में अध्ययन और काम करने के इच्छुक हैं, तो ये पाठ्यक्रम केवल आपके लिए हैं। ये पाठ्यक्रम शार्ट-टर्म होने के बाद भी लम्बे अंतराल में अच्छे करियर के परिणाम प्रदान करते हैं।

  • निजी क्षेत्र में नौकरी के अवसर:

निजी क्षेत्र में बीसीए का अध्ययन करने वाले छात्रों के लिए पर्याप्त अवसर हैं। कंपनियां अपने तकनीकी अनुभाग के लिए बीसीए ग्रेजुएट्स की भर्ती करती हैं। इंफोसिस, आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट, टीसीएस, टेक महिंद्रा, एचसीएल, विप्रो, एक्सेंचर, डेल, सिंटेल, ओरेकल जैसी कुछ शीर्ष कंपनियां बीसीए ग्रेजुएट्स की नियुक्ति करती हैं।

इसमें एक छात्र सॉफ्टवेयर इंजीनियर, सिस्टम इंजीनियर, हार्डवेयर इंजीनियर, कंप्यूटर प्रोग्रामर, डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर, नेटवर्क इंजीनियर, कंप्यूटर सिस्टम एनालिस्ट, सॉफ्टवेयर डेवलपर आदि के रूप में नौकरी प्राप्त कर सकता है।

  • सरकारी क्षेत्र में नौकरी के अवसर:

सरकारी क्षेत्र में बीसीए ग्रेजुएट के लिए भी कई नौकरियों के अवसर हैं। यदि एक छात्र सार्वजनिक क्षेत्र में काम करने का इच्छुक हैं, तो वो एक प्रोबेशनरी अधिकारी या फिर स्पेशलिस्ट आईटी ऑफिसर के रूप में सरकारी बैंकों में काम कर सकता है। वो स्टॉफ सिलेक्शन कमीशन (एसएससी) में भी सरकारी ऑफिसर के पद पर नियुक्त हो सकता है। इसके साथ ही रेलवे में सिग्नल इंजीनियर के तौर पर भी बीसीए के बाद नौकरी मिल सकती है।

अगर छात्र एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज में जाने का इच्छुक है, तो वो आईएएस: भारतीय प्रशासन सेवा, आईपीएस: भारतीय पुलिस सेवा, सीबीआई: केंद्रीय जांच ब्यूरो, आरआरबी: रेलवे भर्ती बोर्ड, यूपीएससी: संघ लोक सेवा आयोग की विभिन्न परीक्षाओं को उत्तीर्ण कर उच्च पद प्राप्त कर सकता है।

  • स्वरोजगार के अवसर:

बीसीए के बाद विद्यार्थी अपने खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकता है, जिसमें वो वेबसाइट डिजाइनिंग, डाटाबेस मैनेजमेंट, डिजिटल मार्केटिंग, सॉफ्टवेयर कोडिंग, एप्प डिजाइनिंग, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन आदि कर सकता है और अपने बिज़नेस से अच्छा मुनाफा बना सकता है। आजकल डिजिटल दुनिया में जावा, एचटीएमएल, एसएपी, डीबीएमएस आदि की मांग बहुत बढ़ गयी है।

  • शिक्षा के क्षेत्र में नौकरी के अवसर:

आजकल ऑनलाइन एजुकेशन का दौर चल रहा है और कई इंस्टीट्यूट अपने वीडियो क्लासेज के द्वारा विद्यार्थियों को पढ़ा रहे है और इसी कारण इस क्षेत्र में भी वीडियो बनाने से लेकर उसे ऑनलाइन करने तक का सारा जिम्मा एक सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर और ऑपरेटर का होता है। इस क्षेत्र में भी नयी संभावनाओं को देखा जा रहा है। इसके साथ ही आप अपना स्वयं का इंस्टीट्यूट खोल दूसरे विद्यार्थियों को जावा, डीबीएमएस, ओरेकल, वेब डिजाइनिंग आदि सीखा कर भी अपना करियर बना सकते है। मूल तौर पर एजुकेशन सेक्टर भी बीसीए के बाद एक लाभकारी क्षेत्र है।

तो फिर आप सोच क्या रहे है अपनी रुचि को चुनिए और अपने सपनों को पंख दीजिए ताकि वे भी साकार हो सके। बीसीए को चुन आप अपने भविष्य को उज्जवल बनाने की ओर एक कदम उठाइये और मनचाही नौकरी या व्यवसाय को आमदनी का जरिया बनाइये।

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

Total votes: 4

Upvotes: 2

Upvotes percentage: 50.000000%

Downvotes: 2

Downvotes percentage: 50.000000%

3 Comments

Leave a Reply
  1. Bjai aapki iss post me dummmm hai wakaii ….
    Puri information d hai aapne 👌👌
    Jo kuchh mere Mann me tha ki BCA kuchh na hai WO nikal gya ….😀
    Abb to pakka BCA hi TarGet hai 💪💪❤

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

BBA Future Career Options-smsvaranasi.com

बीबीए के बाद दे अपने सपनों को नयी उड़ान आइये जाने कैसे? | 2109

THE POWER OF MARKET RESEARCH – AN MBA STUDENTS STORY

THE POWER OF MARKET RESEARCH – AN MBA STUDENT STORY